छके

0
14

प्रचार तंत्र वालो ने ताली बजा बजा कर

जांच विभाग के आगे जो नाच कर

पूछा कहाँ हुआ किस घर का हुआ ।

तभी बिना रुके मंत्री के ढोलक की आवाज ने

जांचकर्ता को भी नाचने के लिए मजबूर कर दिया ।

फिर क्या था वादी ने अपने सुनहरे गोटे का संदूक दिखा कर

जांच करता से कहा ढकन उठा कर दिखाऊ क्या ।

छके तो मन माना ले गए ।

बेचारे बेबस जांचकर्ता इन भ्रष्टाचारी छको से
अपने देश के बच्चो के लिए खली दुआए लेते रह गए।

Rate this post
Previous articleObservation
Next articleप्रांजय

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here