प्रमाण पत्र

0
12

हाँ हुँ में स्वार्थी ।

नहीं मिलनी हाँ में हाँ ।

केवल और केवल मेरे हित की बात।

किसी और का भला तो बिलकुल भी नहीं ।

कोई भी नैतिकता पर उपदेश नहीं सुनना ।

आजादी और आजादी जो में चाहु वो करने की।

किसी नियम की कोई दुहाई नहीं सुननी ।

क्यों की मुझे नहीं बनना साधारण नागरिक ।

मुझे बनाना विशेष नागरिक सब कुछ गैर क़ानूनी करने का प्रमाण पत्र ।

कब दिलवा रहे हो विशेष नागरिक होने का प्रमाण पत्र ।

Rate this post
Previous articleह्रदय
Next articleAddicts

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here